निम्नलिखित प्रश्न अपने आप से पूछें और पहचाने कि जहां आप सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में गलत हो सकते हैं:

1. क्या आप व्यापक और संक्षिप्त अध्ययन सामग्री का पालन करते हैं?
IAS परीक्षा में विभिन्न विषयों और उप विषयों से प्रश्न शामिल होते हैं। इस प्रकार, IAS परीक्षा की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री व्यापक होनी आवश्यक है।

जैसा कि IAS परीक्षा में बहुत अधिक पाठ्यक्रम शामिल होता है इसलिए सफलता के लिए उपयुक्त समय का उपयोग महत्वपूर्ण है। इस प्रकार, पाठ्यक्रम सामग्री का अध्ययन करना महत्वपूर्ण है जो व्यापक है वहीं दूसरी ओर, केंद्रित और संक्षिप्त है।

2. क्या आप नियमित रूप से पिछले वर्षों के प्रश्नों की समीक्षा करते हैं?
IAS परीक्षा में पूछे गए पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र उम्मीदवारों का IAS परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के प्रतिरूप और प्रकार के अनुसार मार्गदर्शन करते हैं। साथ ही, पिछले वर्षों के पत्रों की समीक्षा से सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों में आत्मविश्वास पैदा होता है।

3. क्या आप नियमित टेस्ट दे रहे हैं?
नियमित टेस्ट देना तैयारी करने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि टेस्ट छात्रों को कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करते हैं, छात्रों में स्थिरता लाते हैं और उनके प्रदर्शन का मूल्यांकन करने के लिए प्रेरित करते हैं ताकि आवश्यकतानुसार जरूरी उपाय किए जा सकें।

4. क्या आपने पूरा पाठ्यक्रम कवर किया है? complete coverage of the syllabus?
चूंकि प्रतियोगिता का स्तर बहुत अधिक है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि उम्मीदवार ने उन सभी क्षेत्रों को तैयार किया हो जहां से परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रारंभिक परीक्षा के लिए आवश्यक विषयों की सूची इस प्रकार है:
1. भारत की राजव्यवस्था
2. भूगोल: भौतिक, आर्थिक, मानव, भारत और विश्व
3. इतिहास: आधुनिक, मध्ययुगीन और प्राचीन
4. अर्थशास्त्र: भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय
5. सामान्य विज्ञान: पारंपरिक और समकालीन
6. पर्यावरण एवं जैव विविधता
7. कला एवं संस्कृति
8. अंतरराष्ट्रीय संगठन और द्विपक्षीय संबंध
9. समसामयिकी मामले

5. क्या आप बार-बार अभ्यास कर रहे हैं?
नई अवधारणाओं में निपुण होने और कई तथ्यों को सीखने में समय लगता है, इसलिए हम पाठ्यक्रम का बार-बार अभ्यास करने का सुझाव देते हैं।

6. क्या आपने सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II को अनदेखा किया है (जिसे CSAT के नाम से जाना जाता है)?
सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II में एक उम्मीदवार द्वारा प्राप्त अंकों को सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I अंको में नहीं जोड़ा जाता है। हालांकि, सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II में क्वालिफाइंग अंक प्राप्त करना आवश्यक है। कई बार यह देखा जाता है कि एक उम्मीदवार सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I में कट-ऑफ अंको से अधिक अंक प्राप्त करता है लेकिन सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II को उत्तीर्ण करने में विफल रहता है। इस प्रकार, हम दृढ़ता से सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II की एक अच्छी तैयारी की सलाह देते हैं।

 



hi_INहिन्दी
en_USEnglish hi_INहिन्दी